वनडे क्रिकेट में विकेटकीपर द्वारा खेली गई 5 सबसे बड़ी पारियां

महेंद्र सिंह धोनी, वनडे क्रिकेट में विकेटकीपर द्वारा खेली गई 5 सबसे बड़ी पारियां

बदलते समय के साथ क्रिकेट के खेल में भी कई तरह के बड़े बदलाव देखने को मिले हैं। जिसमें पहले जहां पर सिर्फ बल्लेबाजों से रन बनाने की उम्मीद की जाती थी, वहीं अब निचलेक्रम के खिलाड़ी भी बेहतर बल्लेबाज के तौर पर देखने को मिल जायेंगे। जो जरूरत के समय टीम के लिए अहम पारी खेलते हुए मैच में स्थिति को मजबूत करने का काम करेंगे।

इसी में अब टीम ऐसे विकेटकीपर खिलाड़ी को शामिल करने पर अधिक ध्यान देती है, जो ना सिर्फ विकेट के पीछे अपनी काबिलियत दिखाए बल्कि बल्ले से भी अहम योगदान दे सके। इसी कारण अब अधिकतर टीमों में विशेषज्ञ विकेटकीपर बल्लेबाज देखने को मिल जायेंगे। जिसके बाद हम आपको वनडे क्रिकेट में विकेटकीपर द्वारा खेली गई टॉप-5 सर्वाधिक रनों की पारियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

5 – ल्यूक रॉन्ची (बनाम श्रीलंका साल 2015, 170 रनों की नाबाद पारी)

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज ल्यूक रॉन्ची अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाते थे। जिसमें उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ साल 2015 में डुनेडिन के मैदान पर खेले गए वनडे मैच के दौरान टीम के लिए मैच विनिंग पारी खेली थी। जिसमें 20 ओवरों में 93 रन पर 5 विकेट गंवा चुकी न्यूजीलैंड को रॉन्ची और ग्रांट इलियट का सहारा मिला। जिसमें दोनों के बीच में 267 रनों की साझेदारी देखने को मिली। वहीं रॉन्ची ने 99 गेंदों में नाबाद 170 रनों की पारी के दौरान 14 चौके और 9 छक्के लगाए। जिससे कीवी टीम 50 ओवरों में 360 के स्कोर तक पहुंचने में कामयाब हो सकी थी।

4 – एडम गिलक्रिस्ट (बनाम जिम्बाब्वे साल 2004, 172 रनों की शानदार पारी)

ऑस्ट्रेलियाई टीम में विकेटकीपर के तौर पर एक एडम गिलक्रिस्ट की हमेशा एक अलग पहचान देखने को मिलती है। जिसमें इस बल्लेबाज के विस्फोटक अंदाज ने क्रिकेट फैंस को पूरी तरह से अपना मुरीद बना लिया था। पहली ही गेंद से बाउंड्री मारने के इरादे से खेलने वाले एडम गिलक्रिस्ट ने साल 2004 में जिम्बाब्वे के खिलाफ त्रिकोणीय सीरीज मुकाबले में अकेले ही 172 रनों की पारी खेल दी थी। जिसमें 13 चौके और 3 छक्के शामिल थे।

3 – लिटन दास (बनाम जिम्बाब्वे साल 2020, 176 रनों की पारी)

बांग्लादेशी टीम में भी अब एक से एक बेहतर विकेटकीपर बल्लेबाज देखने को मिल रहे हैं। जिसमें एक नाम लिटन दास का भी शामिल है। जिन्होंने साल 2020 में जिम्बाब्वे के खिलाफ हुए मुकाबले के दौरान 176 रनों की पारी सिर्फ 143 गेंदों में खेल दी थी। इस मैच में बांग्लादेश की टीम को पहले बल्लेबाजी करने के लिए कहा गया था। जिसके बाद बतौर ओपनिंग बल्लेबाज उतरे लिटन दास के बल्ले से यह शानदार पारी देखने को मिली और उन्होंने तमीम के साथ पहले विकेट के लिए 292 रनों की साझेदारी भी की थी।

2 – क्विंटन डी कॉक (बनाम ऑस्ट्रेलिया साल 2016, 178 रनों की पारी)

साउथ अफ्रीकी टीम के बाएं हाथ के विस्फोटक विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक की गिनती बेहद शानदार बल्लेबाजों में की जाती है, जो अपने दम पर टीम को जीत दिला सकते हैं। जिसमें साल 2016 में सेंचुरियन के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मुकाबले के दौरान डी कॉक का यही रूप देखने को मिला था। जिसमें उन्होंने टीम को मिले 294 रनों के लक्ष्य का पीछा करते समय 113 गेंदों में 16 चौके और 11 छक्कों की मदद से 178 रनों की बेहतरीन पारी खेल दी। जिसकी बदौलत अफ्रीकी टीम ने मैच को 36.2 ओवरों में ही अपने नाम कर लिया था।

1 – महेंद्र सिंह धोनी (बनाम श्रीलंका साल 2005, 183 रनों की नाबाद पारी)

भारतीय क्रिकेट ही नहीं बल्कि वर्ल्ड क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी को सबसे सफल विकेटकीपर बल्लेबाज माना जाता है। अपने शुरुआती करियर के दौरान बेहद विस्फोटक अंदाज में खेलने वाले धोनी के बल्ले से साल 2005 में श्रीलंका के जयपुर के मैदान में यादगार पारी देखने को मिली थी। जिसमें श्रीलंका की टीम ने पहले खेलते हुए भारत को 298 रनों का लक्ष्य दिया था। जिसके बाद नंबर-3 पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजे गए धोनी ने 145 गेंदों में 15 चौके और 10 छक्कों की मदद से 183 रनों की नाबाद पारी खेलने के साथ भारतीय टीम को एकतरफा जीत दिलाने का काम किया था।

क्या जसप्रीत बुमराह को आईपीएल से दूर रखना चाहिए?