इन 2 खिलाड़ियों ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक पारी में अकेले बनाये 400 से ज्यादा रन

क्रिकेट प्रथम श्रेणी

क्रिकेट के खेल में किसी भी खिलाड़ी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने से पहले खुद को प्रथम श्रेणी क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करके दिखाना होता है। हालांकि बदलते समय के साथ अब इस मामले में भी थोड़ा बदलाव देखने को मिला है, जिसमें टेस्ट क्रिकेट को लेकर जहां अभी भी उसी तरह का मापदंड है। वहीं सीमित ओवर्स क्रिकेट में टी20 लीग में बेहतर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने का जल्द मौका मिलने लगा है।

हालांकि टेस्ट प्रारूप में खेलना प्रत्येक खिलाड़ी का सबसे बड़ा सपना होता है, जिसको लेकर वह लगातार प्रथम श्रेणी क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करता रहता है। हालांकि अभी तक वर्ल्ड क्रिकेट में सिर्फ 2 ही ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अकेले 400 से अधिक रनों की पारी खेली है।जिसमें एक नाम पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज बिल पोंसफोर्ड और दूसरा नाम वेस्टइंडीज टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी ब्रायन चार्ल्स लारा का है।

शेफील्ड शील्ड में क्वींसलैंड के खिलाफ खेली बिल ने खेली 437 रन की पारी

साल 1927 में ऑस्ट्रेलिया के घरेलू क्रिकेट में प्रतिष्ठित शेफील्ड शील्ड में विक्टोरिया और क्वींसलैंड के बीच में मुकाबला मेलबर्न में हुआ था। इस मैच में विक्टोरिया टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला करते हुए पहली पारी में 793 रन बना दिए। इसमें बिल पोंसफोर्ड के 621 गेंदों में 437 रनों की पारी भी शामिल थी। जिसकी बदौलत विक्टोरिया की टीम ने इस मैच में क्वींसलैंड के खिलाफ पारी और 197 रनों से जीत दर्ज की।

बिल पोंसफोर्ड का प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रिकॉर्ड देखें तो उन्होंने 162 मैच की 235 पारियों में 65.18 के औसत से कुल 13819 रन अपने नाम किये है। जिसमें 47 शतकीय जबकि 43 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं। इसके अलावा बिल ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 29 टेस्ट मैच में 48.22 के औसत से कुल 2122 रन अपने खाते में जोड़े है।

काउंटी चैंपियनशिप में ब्रायन लारा ने खेली 501 रनों की पारी

इंग्लैंड की काउंटी चैंपियनशिप में साल 1994 में डरहम और वॉर्किशायर के बीच में बर्मिंघम के मैदान में मुकाबला खेला गया था। इस मैच में डरहम की टीम को पहले बल्लेबाजी करने का मौका मिला और उन्होंने 556 रन बनाकर अपनी पहली पारी घोषित की। डरहम की तरफ से जॉन मौरिस ने 204 रनों की पारी खेली थी।

इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी वॉर्किशायर टीम के सलामी बल्लेबाज 123 रन तक पवेलियन लौट गए। लेकिन यहां से ब्रायन लारा ने मोर्चा संभालते हुए एक ऐसी पारी खेली जो आज भी इतिहास के पन्नों में दर्ज है। लारा ने 427 गेंदों का सामना करते हुए 501 रनों की नाबाद पारी खेली। अपनी इस पारी में उन्होंने 62 चौके और 10 छक्के जड़े थे। हालांकि यह मैच ड्रॉ हो गया लेकिन लारा की यह पारी आज भी सभी बल्लेबाजों के लिए एक मिसाल है।

क्या आईपीएल 2022 की नीलामी का हिस्सा बन पायेगी अहमदाबाद ?