इन 5 भारतीय खिलाड़ियों ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में जीता प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब

टेस्ट मैच डेब्यू

क्रिकेट के तीनों ही प्रारूप में यदि कोई सबसे कठिन प्रारूप है तो वह टेस्ट प्रारूप हैं। जिसमें खेलने का सपना प्रत्येक खिलाड़ी देखता है ताकि उसे खुद को पूरी तरह से साबित करने का मौका मिल पाए। जिसमें ऐसे कम ही खिलाड़ी देखने को मिलते है, जो अपने डेब्यू मैच में ही सभी को प्रभावित कर देते है क्योंकि टेस्ट क्रिकेट खुद को साबित करने में कई खिलाड़ियों को काफी समय लग जाता है। वहीं कुछ पहले ही मैच से इसे पूरी तरह से भुनाने में कामयाब हासिल कर लेते है।

भारतीय टीम के लिए अभी तक टेस्ट क्रिकेट में एक से बढ़कर एक और महान खिलाड़ी देखने को मिले हैं। जिनकी गिनती सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में होती है, लेकिन काफी कम ऐसे खिलाड़ी रहे हैं, जो अपने पहले ही मैच में प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब अपने नाम कर पाए हो। इसी चीज को लेकर आज हम आपको ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे।

5- रविचंद्रन अश्विन (बनाम वेस्टइंडीज, साल 2011)

मौजूदा समय में वर्ल्ड क्रिकेट में टॉप-5 स्पिन गेंदबाजों में रविचंद्रन अश्विन की गिनती होती है। जिसमें उन्होंने साल 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना पहला टेस्ट में दिल्ली के फिरोज शाह कोटला (अब अरुण जेटली स्टेडियम) मैदान में खेला था। इस मैच में अश्विन ने कुल 8 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया था । जिसके बाद उनके इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया था।

4- शिखर धवन (बनाम ऑस्ट्रेलिया, साल 2013)

भारतीय टीम के लिए एक समय शिखर धवन तीनों ही प्रारूप में सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलते हुए दिखाई देते थे। जिसमें उन्हें साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली के मैदान में अपने टेस्ट करियर का पहला मैच खेला। धवन ने 174 गेंदों में 187 रनों की शानदार पारी खेलते हुए सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा। उनके इस प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब दिया गया था।

3- रोहित शर्मा (बनाम वेस्टइंडीज, साल 2013)

सीमित ओवर्स में अपनी बल्लेबाजी की छाप छोड़ने वाले रोहित शर्मा खुद को काफी लंबे समय के बाद टेस्ट क्रिकेट में साबित करने में कामयाब हो पाए है। लेकिन उनका आगाज काफी धमाकेदार तरीके से हुआ था। जिसमें रोहित ने साल 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने टेस्ट करियर का पहला मैच खेलते हुए 301 गेंदों में 177 रनों की अहम पारी खेलकर दिखाई थी। जिसके बाद भारतीय टीम ने जहां मैच को पारी और 51 रनों से अपने नाम किया था, वहीं रोहित को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरुस्कार दिया गया था।

2- पृथ्वी शॉ (बनाम वेस्टइंडीज, साल 2018)

साल 2018 में भारतीय टीम से युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को टेस्ट प्रारूप में डेब्यू करने का मौका मिला। जिसमें उन्होंने अपना पहला मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ राजकोट के मैदान में खेला। भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और शॉ ने पहली ही गेंद से अपना स्वाभाविक खेल शुरू कर दिया। जिसके बाद उन्होंने 154 गेंदों में 134 रनों की शानदार पारी खेलने के साथ भारतीय टीम को पारी और 272 रनों से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

1- श्रेयस अय्यर (बनाम न्यूजीलैंड, साल 2021)

लंबे समय तक सीमित ओवर्स टीम का अहम हिस्सा रहने वाले श्रेयस अय्यर को साल 2021 में न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में अपना पहला टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला। अय्यर ने इस मौके का पूरा लाभ उठाते हुए पहली पारी में जहां 105 तो वहीं दूसरी पारी में 65 रन बनाते हुए टीम की स्थिति को मजबूत करने में अहम भूमिका निभाई थी।

पिछले 5 सालों में टेस्ट क्रिकेट में इन 3 सलामी बल्लेबाजों ने किया शानदार प्रदर्शन